Featured Posts

[Blogging][feat1]

मॉनिटर क्या है What is Monitor in Hindi -Techno Ganpat

10:02 PM

मॉनिटर क्या है? -What is Monitor In Hindi


दोस्तों मॉनिटर (Monitor) एक प्रकार की Output Device है मॉनिटर (Monitor) को Visual Display Unit भी कहा जाता है, दोस्तों tv सभी ने देखा होगा ये देखने में आपके TV की तरह होता है,  ये computer के लिये बहुत महत्‍वपूर्ण और जरूरी होता है इसके बिना आप computer पर काम ही नहीं कर पायेगें आईये जानते हैं मॉनिटर क्या होता है और मॉनिटर कितने प्रकार के होते है What is Monitor in Hindi वो भी हिंदी में।
What is monitor
monitor



मॉनिटर कितने प्रकार के होते है? - मॉनिटर तीन प्रकार के होते है।


CRT Monitor(cathode re tube)
LCD (Liquid Crystal Display)
LED (Light Emitting Diode)

Computer मॉनिटर एक ऐसी device है जो आपके कंप्यूटर के साथ अगर अटैच ना की गई हो तो आप कंप्यूटर का इस्तेमाल नहीं कर सकते हैं क्योंकि आपको वहां पर कुछ दिखा ही नहीं दिखाई नहीं देगा LCD (Liquid Crystal Display) कंप्यूटर मॉनिटर का जो डिस्प्ले होता है वह बहुत पतला होता है और यह पतले फिल्म ट्रांजिस्टर लिक्विड क्रिस्टल डिस्प्ले का बना होता है Liquid Crystal Display को LCD के नाम से भी जाना जाता हैं यह Digital Technology हैं जो एक Flat सतह पर तरल क्रिस्टल के माध्यम से आकृति बनाता हैं यह कम जगह लेता है यह कम बिजली की खपत करता है

जबकि जो पुराने मॉनिटर होते थे वह कैथोड रे ट्यूब (Cathode Ray Tube) के बने होते थे इनकी गहराई लगभग स्क्रीन के साइज के बराबर ही होती थी और यह बिजली भी बहुत खर्च करते थे अधिकतर मॉनीटर में Picture tube होता है जो देखने में बिलकुल टीवी की तरह होता है यह Picture tube सी.आर.टी. कहलाती है CRT बहुत सस्‍ती तकनीक है|

CRT मोनीटर में एक Electron gun होता है जो की Electrons की Beam और Cathode Rays को उत्सर्जित करती है ये Electron beam, Electronic grid से पास की जाती है ताकि electron की Speed को कम किया जा सके CRT Monitor की Screen पर फास्फोरस की Coding की जाती है इसलिए जैसे ही electronic beam Screen से टकराती है तो Pixel चमकने लगते हैं और मोनीटर Screen पर Display दिखाई देने लगता है

LED (Light Emitting Diode)


वर्तमान समय में LCD (Liquid Crystal Display) के स्‍थान पर LED (Light Emitting Diode) का इस्‍तेमाल किया जा रहा है यह देखने में बिलकुल LCD Monitor की तरह ही लगते हैं लेकिन LED 1.5 watts की पावर इस्‍तेमाल करती है और ऑखों पर बहुत कम जोर डालती है ।LED Monitor LCD की तुलना में अधिक time तक काम करते हैं LED को light emitting dayod भी कहा जाता है यह एक सेमीकंडक्टर device होता है जो लाइट को एमिटिंग या उत्‍सर्जित करता है LED एक बहुत महत्वपूर्ण आविष्कार रहा है इसका इस्तेमाल बहुत ज्यादा मात्रा में लोगों के द्वारा किया जा रहा है।

दोस्तों अपने इस अध्याय में जाना की मॉनिटर क्या है what is monitor in hindi, मॉनिटर कितने प्रकार के होते है? आशा करता हु की आपको समझ में आया होगा इसे शेयर जरूर करे और कमेंट बॉक्स में कमेंट करे की आपको केसा लगा।
मॉनिटर क्या है What is Monitor in Hindi -Techno Ganpat मॉनिटर क्या है What is Monitor in Hindi -Techno Ganpat Reviewed by Mehar Studios on 10:02 PM Rating: 5

बाल दिवस कब है और यह क्यों मनाया जाता है ? जाने हिंदी में!


बाल दिवस कब है और यह क्यों मनाया जाता है ?


दोस्तों Bal Diwas जिसको हम English मै Children's Day भी बोलते है और दोस्तों आज हम बात करेंगे की india में children’s day कब आता है  इसे क्यों और कैसे मनाया जाता है|
Children's Day  2019
Children Day


तो सबसे पहले मै आपको Children's Day Date बता देता हूँ तो दोस्तों bal diwas date जो है वो 14 November  है और इस दिन school के बच्चे इस दिन को काफी enjoy करते है आईये जानते है वो कैसे?

बाल दिवस क्यों मनाया जाता है


दोस्तों आप मै से काफी लोगो को बाल दिवस के बारे में नही पता होगा की बाल दिवस का महत्व क्या है?

तो सबसे पहले आप यह जान लो की children’s day क्यों मनाया जाता है। इस दिन पंडित जवाहर लाल नेहरू का जन्मदिन होता है 14 नवंबर, 1889 को पैदा हुए जवाहरलाल नेहरू को श्रद्धांजलि के रूप में भारत में 14 नवंबर को बच्चों का दिवस मनाया जाता है। जवाहरलाल नेहरू, जिसे चाचा नेहरू या बस चाचाजी कहा जाता था, बच्चों के लिए उनके प्यार के लिए जाने जाते थे।

इस दिन, चॉकलेट और उपहार अक्सर बच्चों के बीच वितरित किए जाते हैं, जबकि स्कूल बहस, और संगीत और नृत्य प्रदर्शन जैसे विभिन्न कार्यक्रम आयोजित करते हैं।

14 नवम्बर के दिन ही यह पैदा हुए थे यह बच्चो से बहुत प्यार करते थे और बच्चे इनको प्यार से चाचा नेहरु कहकर पुकारते थे तो उन्ही के जन्मदिन के मोके पर बाल दिवस  मनाया जाता है|
Pandit Jawaharlal Nehru
Chacha Nehru


अब आपको यह तो पता होगा की पंडित जवाहर लाल नेहरू कोन है? अगर आपको इनके बारे में नही पता था कोई बात नही मै आपको अभी इनके बारे मै अच्छे से समझता हूँ|

पंडित जवाहर लाल नेहरू History

Chacha nehru हमारे देश इंडिया के पहले प्रधानमंत्री बने थे इन्होने महात्मा गांधी के साथ हमारे देश को आजादी दिलाने में बहुत मदद करी थी और 1947 में भारत स्वतंत्रता प्राप्ति के बाद यह भारत के पहले प्रधानमंत्री बने|

चाचा नेहरु जीवन

जवाहर लाल नेहरू का  जन्म इलाहाबाद  में मोतीलाल नेहरु के घर मै हुआ था उनकी जो माता थी उनका नाम स्वरूप रानी नेहरु था वो अपने घर में इकलोते बैटे थे| उन्होंने अपनी पढ़ाई देश विदेश के बहतरीन स्कूल से करी थी तभी उनको काफी ज्यादा जानकारी थी|

1 9 64 से पहले, भारत ने 20 नवंबर को बाल दिवस मनाया, जिसे संयुक्त राष्ट्र द्वारा सार्वभौमिक बाल दिवस के रूप में देखा गया। लेकिन 1 9 64 में उनकी मृत्यु के बाद, बच्चों के प्रति उनके प्यार और स्नेह के कारण देश में बाल दिवा के रूप में अपने जन्मदिन का जश्न मनाने का सर्वसम्मति से फैसला किया गया।

पंडित जवाहरलाल नेहरू ने एक बार कहा था, "आज के बच्चे कल भारत बना देंगे। जिस तरह से हम उन्हें लाएंगे, वह देश का भविष्य निर्धारित करेगा"।

Bal diwas kaise banaya jata hai

दोस्तों इस दिन बच्चे बाल दिवस पर निबंध लिखते है जवाहरलाल नेहरू पर स्पीच लिखते है और biography बताते है|

और इतना ही नही इस दिन स्कूल में फेस्टिवल होता है बच्चे स्कूल में डांस करते है, खाने का सामान लगते है ।children’s day पर poem लिखते है।

Children’s day 2018
Children’s day Date 2018

Happy Children’s day wishes

Happy Children’s day 2018

बाल दिवस कब है और यह क्यों मनाया जाता है ? जाने हिंदी में! बाल दिवस कब है और यह क्यों मनाया जाता है ? जाने हिंदी में! Reviewed by Mehar Studios on 1:24 PM Rating: 5

क्या आप जानते है? ' जौ ' खाने के ये 5 गुणाकारी लाभ ? हिंदी में जाने!


क्या आप जानते है? ' जौ ' खाने के ये 5 गुणाकारी लाभ ?

5 benefits of jou
5 benefits of jou

दोस्तों वैसे अनाज एक ऐसी चीज है जो अलग  - अलग काम में उपयोग में लिया जाता है और इनके गुण भी अलग-अलग है । आज हम ऐसे ही एक अनाज जौ खाने  के 5 गुणाकारी लाभ के बारे में बात करेंगे तो दोस्तों आइये जानते है-

जौ ' खाने से होने वाले  5 गुणाकारी लाभ -


पृथ्वी पर सबसे पुराने अनाजों में से एक है ' जौ '। इसका प्रयोग धार्मिक कामों के लिए किया जाता है. अक्सर आपने किसी पूजा स्थल या हवन की सामग्री या नवरात्रि में कलश स्थापना में इसका उपयोग होते देखा होगा। इसकी मुख्य पैदावार रूस, यूक्रेन, अमरीका, जर्मनी, कनाडा और भारत में होती है. जौ ऐसा अनाज है जिसे खाने से हमारे शरीर को कई पोषक तत्वतो मिलते ही हैं साथ ही ये हमें कई बीमारियों से भी बचाता है। जौ, गेंहू की ही जाति का एक अनाज है।

लेकिन ये गेंहू से हल्का और थोड़ा मोटा होता है. जौ में लेक्टिक एसिड, सैलिसिलिक एसिड, फास्फोरिक एसिड, पोटेशियम और कैल्शियम उपलब्ध होता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि इस अनाज के कई और फायदे हैं ? अगर नहीं तो आज हम इसी बारे में आपको बताने जा रहे हैं….की जौ खाने 5 गुणाकारी लाभ कोनसे होते है ।

1. गर्भपात :

जिस महिला का गर्भपात हो जाता है उसके लिए जौ अमृत का काम करता है। इसे खाने से गर्भपात में हुई कमजोरी दूर की जा सकती है। जौ के आटे को घी और ड्राई फ्रूट के साथ मिलाकर लड्डू बनाया जाता है। इसके अलावा जौ का छना हुआ आटा, तिल और शक्कर को शहद के साथ मिलाकर खाने से भी गर्भपात रुकता है।

2. पथरी :

खराब और मिलावट वाला खाना खाने से लोगों के पेट में पथरी की समस्या हो जाती है। इस बीमारी से पीड़ित लोग जौ को पानी में उबालकर इसे ठण्डा करने के बाद रोज 1 ग्लास पिएं। ऐसा रोज करने से पेट की पथरी गल जाती है. इसके अलावा ऐसे लोग जौ की रोटी, धाणी और जौ का सत्तू भी ले सकते हैं।

3. डायबिटीज :

डायबिटीज को धीमी मौत कहना गलत नहीं होगा क्योंकि ये एक ऐसी बीमारी है जो धीरे-धीरे लोगो को गला देती है। ये बीमारी लोगों की लाइफस्टाइल पर भी निर्भर करती है। इसके लिए कोई एलोपेथिक दवा काम नहीं करती। इसलिए इस बीमारी से छुटकारे के लिए हेल्दी डाइट लेना चाहिए साथ ही रोगी जौ के आटे की रोटी और सत्तू बनाकर खा सकते हैं। जौ के आटे में चने का आटा मिलाकर भी खाया जा सकता है।

4. मोटापा :

दुनिया में करीब 95 प्रतिशत लोग मोटापे की समस्या से परेशान रहते हैं। जौ के सत्तू और त्रिफले के काढ़े में शहद मिलाकर पीने से मोटापा समाप्त हो जाता है। इसके अलावा जो व्यक्ति कमजोर हैं वे जौ को दूध के साथ खीर बना कर खाने से मोटे हो जाते हैं।

5. रंग निखारना :

जौ सिर्फ सिर्फ अंदर से ही नही बल्कि बाहरी रूप को भी निखारने में मदद करता है। ये रंग को निखारने के लिए बहुत लाभकारी होता है। जौ का आटा, पिसी हुई हल्दी और सरसोंके तेल को पानी में मिलाकर लेप बना लें। रोजाना शरीर में इसका लेप करके गर्म पानी से नहाने से रंग निखरता है।

दोस्तों  आज हमने जौ ' खाने के होने वाले 5 गुणाकारी लाभ के बारे में जाना । उम्मीद करता हु की आपको ये पोस्ट पसंद आया होगा अगर कुछ समझ में नहीं आये या कुछ पूछना हो तो कमेंट बॉक्स में कमेंट करे।
क्या आप जानते है? ' जौ ' खाने के ये 5 गुणाकारी लाभ ? हिंदी में जाने! क्या आप जानते है? ' जौ ' खाने के ये 5 गुणाकारी लाभ ? हिंदी में जाने! Reviewed by Mehar Studios on 6:38 PM Rating: 5

जब आमिर के भांजे इमरान से हो गई juhi chawla की सगाई!

जब आमिर के भांजे इमरान से हो गई juhi chawla की सगाई!


Bollywood की Beautiful Actress juhi chawla ने 'कयामत से कयामत तक' 'बोल राधा बोल' 'प्रतिबन्ध' 'राजू बन गया जेंटलमैन' 'हम हैं राही प्यार के' ' डर' जैसे बेहतरीन Movies भी दी हैं.  juhi chawla age 13 नवंबर 1967 Panjab में जन्मीं juhi chawla की मुस्कुराहट हमेशा Fence को पसंद आई है. उनकी प्रोफेशनल लाइफ एक खुली किताब की तरह है, लेकिन उनकी Personal Life हमेशा सबसे छ‍िपी रही है. उनके Birthday के खास मौके पर जानें ह‍िंदी स‍िनेमा की द‍िलकश अदाकारा की ज‍िंदगी के अनजाने किस्से|
Juhi Chawla Birthday photo
Juhi


juhi chawla के पिता एक पंजाबी और मां एक गुजराती बोलने वाली महिला थी. पूजनाब में स्कूल की पढ़ाई के बाद जूही का पूरा परिवार मुंबई शिफ्ट हो गया था. मुंबई में juhi chawla ने Miss India के Compitition में भाग लिया और साल 1984 की 'Miss India' बन गईं. 

juhi chawla ने 1986 की फिल्म 'सल्तनत' में 'जरीना' के किरदार से बॉलीवुड में डेब्यू किया, हालांकि फिल्म Box Office पर फ्लॉप रही. फिर साउथ जाकर 1987 में मशहूर Director 'रविचंद्रन' की फिल्म 'प्रेमलोका' में juhi chawla ने काम किया जो उन दिनों Blockbuster साबित हुई|


Juhi Chawla  का करियर


साल 1988 में juhi chawla ने करियर की पहली हिट हिंदी फिल्म 'कयामत से कयामत तक' में काम किया जिसमें उनके साथ अभिनेता Aamir khan ने काम किया. यह फिल्म कमर्शियल तौर पर हिट रही. इस फिल्म के लिए juhi chawla को 'बेस्ट डेब्यूट फीमेल' का अवॉर्ड भी दिया गया |



Juhi Chawla hot photo
Juhi Chawla

कयामत से कयामत के सेट पर ही juhi chawla से आमिर खान के भांजे एक्टर इमरान खान ने सगाई भी कर ली थी. दरअसल, शूट‍िंग के दौरान इमरान, मामा आमिर खान के साथ सेट पर जाते थे. इमरान juhi chawla के बड़े फैन थे. इमरान ने फिर एक बार सेट पर juhi chawla को प्रपोज कर दिया और उन्हें रिंग पहना दी. juhi chawla ने भी छोटे इमरान की रिंग एक्सेप्ट कर ली. juhi chawla ने इस किस्से का खुलासा बीते द‍िनों एक इंटरव्यू में किया था. उन्होंने ये भी बताया कि उस वक्त इमरान की उम्र महज 4 साल थी |

फिल्मों के साथ साथ juhi chawla ने टीवी पर 'झलक दिखला जा' के सीजन 3 को जज भी किया था और शाहरुख खान के साथ मिलकर फिल्म प्रोडक्शन में भी कदम रखकर 'फिर दिल है हिंदुस्तानी, अशोका और चलते चलते' फिल्में प्रोड्यूस भी की थी.

साल 1998 में juhi chawla ने मशहूर उद्योगपति 'जय मेहता' से विवाह रचाया juhi chawla husband और उन्हें एक बेटी 'jhanvi mehta' और बेटा' अर्जुन' है.  
जब आमिर के भांजे इमरान से हो गई juhi chawla की सगाई! जब आमिर के भांजे इमरान से हो गई juhi chawla की सगाई! Reviewed by Mehar Studios on 3:03 PM Rating: 5
Powered by Blogger.