Top 10 systems that we use everyday - Techno Ganpat

Top 10 systems that we use everyday but we do not know how to use it


About of top 10 system

दोस्तों आज हम tips and trick में हम अपनी life के उन Top 10 systems that we use everyday but we do not know how to use it यानि हम सब इन system का use तो करते है पर हमें पता नहीं होता है कि किस तरह करते है। आज की दुनिया में हर काम System से होता है लेकिन किसी यह नहीं पता होता है कि वह कोनसा system use कर रहा है,तो दोस्तों आज हम उन्ही Top 10 systems के बारे जानेंगे जो we use everyday but we do not know how to use यानि हम उन्हे use तो करते है लेकिन हमें पता नहीं होता है तो आइए जानते है 

SYSTEM

दोस्तों हमें अगर Top 10 systems के बारे में जानना है तो पहले हमें system क्या होता है और उसकी फुल फॉर्म (Full Form)क्या है? जानना बहुत जरुरी है क्योंकि जब तब हम system क्या होता है जाने बिना हम उसके प्रकारों को नहीं समझ पाएंगे।

System की परिभाषा:-

किसी काम को आसान तरीके से करना जिससे Time, Energy और Money की बचत हो , system कहलाता है ।हाँ दोस्तों काम को आसान तरिके से करना ही system होता है ।

System's Full Form :-

System की full फॉर्म इस प्रकार है-



S - Save (बचाना)
Y - Your (तुम्हारा)
S - Self (खुद/स्वयं)
T - Time (समय)
E - Energy (ऊर्जा)
M - Money (पैसा)

यानि system की full form है तुम्हारा खुद का समय,पैसा और ऊर्जा को बचाना ही system कहलाता है ।

Types of systems - 10 system
(सिस्टम के प्रकार -10 सिस्टम)


1.Target ( लक्ष्य )

2. Tourring ( घूमना / घुमाना )

3. ABP sitting (बैठना )

4. 5 minute chit chat ( 5 मिनट बातचीत करना )
5. Name list ( नाम लिस्ट बनाना )
6. T_Up ( तारीफ करना )
7. Information exchange & Invitation call ( सूचना विनिमय और आमंत्रण कॉल )
8. Senior adviser (बड़ो से सलाह लेना )
9. 3-y Sharing ( 3 बातें शेयर करना )
10. Calculation (गणना करना )


1. Target (लक्ष्य)

किसी काम को निश्चित समय या उससे पहले पूरा करना target कहलाता है। दोस्तों वैसे आज सभी का एक न एक target तो होता है और दुनिया के 100% लोगो का एक न एक target लेकिन उन्हें पता नहीं होता है । बच्चा जब जनम लेता है उससे पहले ही उसके माता-पिता target बना लेते है कि उस बच्चे किस तरह बड़ा करना है और वह बड़ा होकर क्या करेगा। यानी सभी लोगों का target होता है।

Types of Target ( target के प्रकार )

दोस्तों target 3 प्रकार के होते है जो इस प्रकार है -
1. Short Term Target
2. Mid Term Target
3. Long Term Target


1. Short Term Target

इसकी समय सीमा 1-6 माह की होती है यानि यह target लगभग 6 माह के अंदर-अंदर पूरा करना होता है और इसकी income लगभग 20 से 25 हजार होती है यानि इतनी income से यह target पूरा करना होता है।

2. Mid Term Target

इसकी समय सीमा 6-12 माह की होती है यानि यह target लगभग 1  साल के अंदर-अंदर पूरा करना होता है और इसकी income लगभग 50 से 80 हजार होती है यानि इतनी income से यह target पूरा करना होता है।

3. Long Term Target

इसकी समय सीमा 1 साल से जिंदगी भर का  होता है यानि यह target अपनी जिंदगी में सबसे बड़ा टारगेट होता है जो कभी भी  पूरा कर सकते है लेकिन पूरा करना होता है और इसकी income लगभग 1 लाख अधिक  होती है यानि इस target में हम चाहे जितना पैसा लगा सकते  है।

History of Target ( Target का इतिहास )

दोस्तों आप सभी को पता है कि USA की एक univercity पुरे world में survey करती है उसी univercity ने जिसका नाम है howard univercity है जो की wasingaton में है उसने सन 1953 में 100% student पर एक सर्वे किया जिसमें उन्होंने पाया कि:-

70% Student का Rap Target था,
17% Student का No Target (जिनका कोई टारगेट नहीं) था,
10% Student का Clear Target था और
3%    Student का Clear Target + Good Planning थी ।


फिर उसी univercity ने 20 साल बाद यानि सन 1973 में उन्ही 100% Student पर वापस सर्वे किया तो पाया कि :-

 वे 70% Student जिनका Rap Target था  - APL (गरीबी रेखा से ऊपर जीवनयापन कर रहे थे)
 वे 17% Student जिनका No Target था -BPL (गरीबी रेखा से नीचे जीवनयापन कर रहे थे)
 वे 10% Student जिनका Clear Target था - उन्होंने अपना Target Achive (प्राप्त) कर लिया
 वे 3% Student जिनका Clear Target + Good Planning थी - वे सभी दुनिया के Richest person (धनवान व्यक्ति) बन गए थे ।

मुख्य उद्देश्य:- Life Upgrade करना है।

2. Tourring (घूमना/घुमाना)

दोस्तों tourring भी एक प्रकार system है लेकिन लोगों को इसका एहसास नहीं है । जब भी हम कहीं की भी tourring करते है तो हम system के हिसाब से ही करते है जैसे :-

1.Basic Information

जहाँ की touring करने जा रहे है उस स्थान की Basic जानकारी हमें होनी चाहिए जैसे किस किस जगह घूमना है क्या क्या देखना है कहाँ पर क्या है ये सब जानकारी हमें होनी चाहिए।



2. Time, Money And planning

अच्छी तरह से घुमने के लिए हमारे पास time और पैसे के साथ-साथ एक अच्छी Planning का होना भी बहुत जरुरी है।

3. The phone of us and our partner should be closed or silent

हमारे और हमारे साथी का फोन बंद या मौन होना चाहिए जिससे हम अच्छी तरह से मन लगाकर tourring कर सकें हमें कोई disturb नहीं करे।

4.While pointing at something, we should do it without using one finger but with full hand

किसी चीज की तरफ इशारा करते समय हमें एक अंगुली का प्रयोग न करते हुए बल्कि पूरे हाथ से करना चाहिए जिससे की हमारे इशारे का कोई गलत मतलब नहीं निकाले। क्योकि कहीं जगहों पर एक अंगुली के इशारे को गलत भी समझा जाता है।

5. Wrong activity should be ignored

गलत एक्टिविटी को नजरअंदाज कर देना चाहिए जैसे कहीं पर लड़ाई झगड़े हो रहे हो तो हमें उस तरफ ध्यान नहीं देना चाहिए।

6. We should not leave our partner alone

हमें हमारे साथी को अकेला नहीं छोड़ना चाहिए जिससे बिछड़ने का डर नहीं रहे क्योंकि अगर ऐसा हो गया तो दोनों ठीक तरह से tourring नहीं कर पाएंगे।

मुख्य उद्देश्य:- Knowledge Upgrade करना है।

3. ABP Sitting (बैठना/बैठाना)

रोज हम कई तरीको से बैठते है जिंदगी में अलग-अलग जगहों पर अलग-अलग तरीको से बैठना पड़ता है।

ABP की full form:-
A - Adviser (सलाहकार)
B - Breeze (पुल)
P - Prospect (सिखने वाला)


ABP Sitting के प्रकार :-
ये 3 प्रकार की होती है -

1. Round Table ABP Sitting

इसमें एक सलाह कार टेबल पर बैठता है और उसके गोल-गोल सिखने वाले बैठते है और उन सिखने वालो के पीछे उनके फ्रेंड्स खड़े रहते है। जो की ब्रीज़ का कार्य करते है।

2. Circule ABP Sitting

इसमें भी round टेबल की तरह ही बैठते है लेकिन इसमें पुरे गोल नहीं बैठते है।

3. Classroom ABP Sitting

इसमें हम classroom में सलाहकार और सिखने वाले दोनों ही बैठते है फ्रेंड्स पीछे नहीं खड़े रहते है बल्कि उनके पूछे दिवार होती है।

मुख्य उद्देश्य:- फोक्स करना होता है।

4. 5 minutes Chit Chat ( 5 मिनट की बात चित )

किसी भी अनजान व्यक्ती से बात करने के लिए हमें ये ध्यान रखना पड़ता है कि

1. Strong Excuse:- मजबूत बहाना यानि किसी भी अनजान व्यक्ति से बात करने के लिए हमें एक मजबूत बहाना बनाना होगा फिर उसी बहाने से हम उससे बातचीत करना शुरू करेंगे।


2.Basic Information:- फिर हम उससे उसकी basic information पुछेंगे जैसे name,address,work,achivement,etc.


3. Promise:- basic information पूछने के बाद हम उससे किसी प्रकार का वादा करेंगे जैसे हेल्प करने का वादा।


4. Contact Exchange :- फिर अपने कांटेक्ट एक्सचेंज करेंगे।


5. Thanks & Bye bye:- फिर हम उससे थैंक्स बोलेंगे हाथ मिलाएंगे और बाय बाय कहेंगे।

मुख्य उद्देश्य:- कम समय में एक अच्छा दोस्त बनाना।

5. Name List (नाम की लिस्ट बनाना)

दोस्तों नाम लिस्ट एक हमारे जीवन का भाग है क्योंकि पता नहीं किस जगह पर हमारी नाम लिस्ट काम आ जाये हमें पता ही नहीं होता है जैसे हम किसी जगह पर जा रहे हो और भगवन ना करे की हमारे कोई एक्सीडेंट हो जाये तो अगर हमारे पास हमारी कोई नाम लिस्ट होगी तो कोई हमारे घर वालो को बता पाएंगे नहीं तो कैसे बताएँगे। इसलिये नाम लिस्ट हर जगह पर काम आती है ।

Types of Name list
1. Soft copy

2. Hard copy


1. Soft copy

इसमें वो नाम लिस्ट आती है जो हम अपने कंप्यूटर , लैपटॉप या अपने मोबाइल में सेव रखते है। इस प्रकार की नाम लिस्ट ख़त्म होने की संभावना रहती है।

2.Hard copy

इस प्रकार की नाम लिस्ट वो होती है जो हम किसी books में लिख कर रखते है । ये नाम लिस्ट खत्म होने की संभावना नहीं रहती है।

Uses of Name List
1. Hospital
2. Panchayat
3. School/ collage
4. Job/Business
5.Marrige
6. Death


मुख्य उद्देश्य:- Biodata Save रखना ।

6. T_UP (तारीफ करना)

यह भी हमारी जिंदगी का अभिन अंग है हर दिन हम किसी ना किसी तरह से किसी ना किसी की तारीफ करते रहते है।



तारीफ 2 तरीके से की जाती है -


1. Real तारीफ

2. Fake तारीफ

1. Real तारीफ वो तारीफ होती है जो हम किसी की हकीकत में तारीफ करते है।
2. Fake तारीफ वो तारीफ होती है जो हम किसी की बिना वजह यानि हमें वो पसंद तो नहीं है लेकिन फिर भी हम दिखावे के लिए तारीफ करते है।

किसी की तारीफ कैसे की जाती है इसके कुछ point है जो इस प्रकार से है -
1. Basic Knowledge

2. Eyes Contact

3. Clear Voice Tone

4. Facial expressions
5. Body Language
6. Feeling's
7. Heartiness
Experience


यानि अगर किसी की तारीफ करनी हो तो ऊपर जो point है वो सब हम में होना चाहिए।

मुख्य उद्देश्य:- ज़ीरो से हाई लेवल तक पहुचाना।

7. Information exchange & Invitation call ( सूचना विनिमय और आमंत्रण कॉल )

दोस्तों वैसे आजकल सभी लोग अपनी information exchange करते है और invitation की बात की जाये तो हम शादी विवाह में करते ही है।
1. Personal Invitation 

2. Professional Invitation


1. Personal Invitation

इस प्रकार के invitation वो होते है जो हम अपने सगे संबंधियों को देते है।

2. Professional Invitation

इस प्रकार के invitation वो होते है जो हम अपने office staff को देते है।

Types of Invitation
1. Face to Face Invitation

2. Letter card Invitation

3. By Call Invitation

4. Social media Invitation


मुख्य उद्देश्य:- market capture करना ।

8. Senior adviser (बड़ो से सलाह लेना )

दोस्तों हमें सभी बड़े बुजेर्गो से या सलाहकारों से सलाह लेनी चाहये । हमारे पास कोई भी किसी भी प्रकार का question हो तो उसका उत्तर पूछना चाहिए।

मुख्य उद्देश्य:- अपना हर प्रकार का solution पाना

9. 3-y Sharring

हमें अपनी लाइफ के हर प्रकार की बातें बतानी चाहिए।

मुख्य उद्देश्य:- Past , Present and Future की बाते शेयर करना।

10. Caluculation

दोस्तों ये सिस्टम हमारी जिंदगी का सबसे महवपूर्ण भाग है हम हमेशा किसी न किसी प्रकार की caluculation करते रहते है।

मुख्य उद्देश्य:- गणना करना।

तो दोस्तों ये है हमारी जिंदगी के Top 10 systems that we use everyday but we do not know how to use it यानि हम सब इन system का use तो करते है पर हमें पता नहीं होता है कि किस तरह करते है। आशा करता हु की आपको पसंद आया होगा ।
Top 10 systems that we use everyday - Techno Ganpat Top 10 systems that we use everyday - Techno Ganpat Reviewed by TECHNOGANPAT- A Education Vlog on 9:17 pm Rating: 5

कोई टिप्पणी नहीं:

Blogger द्वारा संचालित.