Post Page Advertisement [Top]

Christmas Day क्रिसमस क्यों मनाते है l Full Information In Hindi



नमस्कार दोस्तों  आज हम भारतीय त्यौहार क्रिसमस डे के बारे में जानेंगे की Christmas Day  क्रिसमस क्यों मनाते है l बात करेंगे तो आइये जानते है -
Christmas Day  क्रिसमस क्यों मनाते है l Christmas In Hindi
Christmas Day

भारत एक ऐसा देश है जहां पर लगभग सभी धर्मों के लोग रहते हैं और सभी त्योहार बड़ी ही खुशी से मनाते हैं. भारत देश में ईसाइयों का त्योहार क्रिसमस डे भी बड़ी ही खुशी से मनाया जाता है. यह त्यौहार 25 दिसंबर को पूरी दुनिया Christmas Day के तौर पर मनाती है. 24 दिसंबर की शाम से इस त्योहार का जश्न शुरू हो जाता है।



दोस्तों क्रिसमस का त्योहार ईसाइयों का सबसे बड़ा त्यौहार है. ईसाइयों के लिए क्रिसमस का महत्व बहुत ज्यादा है. इस दिन दुनिया भर के इसाई लोग बड़ी ही धूमधाम से इस त्यौहार को मनाते है।


Christmas Day की कहानी क्या है ? क्रिसमस का त्योहार कब से मनाया जाता है ? दोस्तों आज की इस पोस्ट में हम आपको अच्छे से बताएंगे कि क्रिसमस का त्योहार क्यों बनाया जाता है ?

क्रिसमस क्यों मनाते है l  Full Information 


कुछ लोगों का मानना है कि प्रभु जीसस का जन्म 25 दिसंबर को नहीं हुआ था लेकिन ज्यादातर लोग यही मानते हैं कि प्रभु जीसस का जन्म 25 दिसंबर को हुआ था यही कारण है कि हम क्रिसमस मनाते हैं और इन्हीं की याद में Christmas Day बनाया जाता है.

दोस्तों हर त्यौहार के पीछे एक कहानी होती है जैसे की हम दीपावली मनाते हैं तो उसके पीछे श्रीराम की कहानी है होली मनाते हैं तो उसके पीछे प्रहलाद की कहानी है इसी तरह से क्रिसमस के त्योहार के पीछे भी एक कहानी है।

क्रिसमस की कहानी आज से करीब 2000 साल पहले की है. बाइबल के अनुसार उस समय रोम का शासन होता था और लोगों पर काफी अत्याचार किए जाते थे. लोगों की पीड़ा को कम करने के लिए तथा लोगों को रोम के शासन से बचाने के लिए प्रभु  ने अपने बच्चे जीसस को धरती पर भेजा था.
प्रभु ने जीसस के जन्म के लिए वहां की एक कुंवारी कन्या Merry को चुना और प्रभु ने Merry के पास एक देवदूत को भेजा।



देवदूत ने Merry के पास जाकर कहा कि तुम्हें प्रभु के पुत्र जीसस को जन्म देना है. देवदूत ने आगे बताया कि आपका यह बेटा बड़ा होकर राजा बनेगा तथालोगों पर हो रहे अत्याचारों को कम करेगा।प्रभु के द्वारा भेजी गई दूत गैब्रियल , जोसफ के पास गई और उन्होंने कहा कि आपको Merry नाम की एक लड़की से शादी करनी है जो प्रभु के बच्चे को जन्म देगी।

जिस दिन जीसस का जन्म होने वाला था उस समय Merry और जोसेफ बेथलेहम की ओर जा रहे थे. बेथलेहम में उस समय काफी भीड़ थी और रहने के लिए कहीं भी जगह नहीं थी. तब Merry और जोसफ उस रात एक अस्तबल (तबेले) में रात गुजारी. इसी रात जीसस का जन्म हुआ और इस दौरान आकाश में एक चमकता हुआ तारा दिखाई दिया जिससे लोगों को आभास हो गया कि उनके प्रभु ने धरती पर अवतार ले लिया है।

इस बात की भविष्यवाणी पहले ही हो चुकी थी कि जिस दिन आकाश में सबसे ज्यादा चमकता हुआ तारा दिखाई दे उसी दिन समझ लेना कि धरती पर तुम्हारे प्रभु ने जन्म ले लिया है. प्रभु के जन्म लेने से सभी लोग बहुत खुश हो गए थे. ईसा मसीह ने अब लोगों के बीच में रहकर उनकी सेवा करनी शुरू कर दी और उनके दुख दर्द को दूर करने का प्रयास करने लग गए।

ईसा मसीह ने हमेशा लोगोंको भाईचारे, मानवता और प्रेम से रहने का संदेश दिया. वह हमेशा कहते थे किजो तुम्हारा बुरा करता है उसकी भी तुम भलाई करो और अपने शत्रुओं से  भी प्रेम करो.



Christmas Day का त्योहारकई चीजों के लिए मशहूर है. जैसे कि क्रिसमस ट्री, गिफ्ट और सांता क्लॉस.  इस दिन सांता क्लॉज बच्चों को गिफ्ट देता है और बच्चों की हरसंभव इच्छा पूरी करने का प्रयास करता है. क्रिसमस के दिन लोग अपने घरों की व गिरजाघरों की साफ सफाई करते है. घर, दुकान और गिरजाघर को लोग रंगीन कागजों और फूलों से सुंदर बनाते हैं।

इस दिन क्रिसमस ट्री भी बनाया जाता है जिस पर रंग बिरंगे, बल्ब और खिलौने सजाए जाते हैं. इस दिन बच्चे बहुत खुश होते हैं क्योंकि उन्हें अच्छे-अच्छे गिफ्ट मिलते है.  इस दिन लोग एक दूसरे को क्रिसमस की हार्दिक शुभकामनाएं देते हैं.

दोस्तों आपको हमारी ये पोस्ट " Christmas Day क्रिसमस क्यों मनाते है l  " कैसी लगी हमे कमेंट बॉक्स के जरिये जरुर बताये.

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Bottom Ad [Post Page]

| Designed by Ganpat Enkeya