Magnetic Disk Kya Hai

Magnetic Disk Kya Hai | चुंबकीय डिस्क क्या है इसके लाभ व हानि

चुंबकीय डिस्क( Magnetic Disk) क्या है  चुंबकीय डिस्क के लाभ एवं हानि क्या है?


चुंबकीय डिस्क( Magnetic Disk) यानि Magnetic Disk Kya Hai हां दोस्तों जिस तरह चुंबकीय टेप( Magnetic tape) होता है ठीक उसी तरह चुंबकीय डिस्क भी होती है। चुंबकीय टेप( Magnetic tape) के बारे में हमने पिछले पोस्ट में पढ़ा था। आज हम चुंबकीय डिस्क के बारे में बात करेंगे कि  चुंबकीय डिस्क क्या है? इसके लाभ और हानि क्या है क्या है ? तो आइए दोस्तों जानते हैं।

 

Magnetic Disk Kya Hai
Magnetic Disk Kya Hai
चुंबकीय डिस्क( Magnetic Disk) संचित डाटा को सीधे करने का साधन है। चुंबकीय डिस्क धातु की पतली गोलाकार प्लेटो से बनी होती है जिसकी एक या दोनों सतहो पर चुंबकीय पदार्थ की परत चढ़ी होती हैं। सभी प्लेटें एक धुरी पर लगी होती है जो इन्हें एक समान गति से घूमाती है।
सबसे ऊपर वाली प्लेट की ऊपरी सतह तथा नीचे वाली प्लेट की निचली सतह पर डाटा संचित नहीं किए जाते हैं। इस प्रकार यदि एक चुंबकीय डिस्क( Magnetic Disk) में 6 प्लेटे लगी हो तो उसकी 10 सतहे ही काम में आती हैं। डाटा को लिखने व पढ़ने के लिए चुंबकीय डिस्क में रीड/राइट लाइट हेड होते हैं। इन हेडों की संख्या सतहो की संख्या के बराबर होती हैं । सभी हेड डाटा को लिखने एवं पढ़ने के लिए एक साथ आगे और पीछे चलते हैं।
Magnetic Disk
Magnetic Disk
चुंबकीय डिस्क की सभी प्लेटो  की हर सतह पर 200 ट्रैक होते हैं। इन सभी ट्रैकों को आगे सेक्टरों में विभाजित किया जाता है। ट्रैकों में सेक्टरों की संख्या 8 होती है। इस प्रकार यदि एक चुंबकीय डिस्क( Magnetic Disk) में 6 प्लेटे लगी हो तो –


रिकॉर्ड किए जाने वाले सतहों की संख्या = 10
सभी सतहों के कुल ट्रैकों की संख्या = 2000
सभी सतहों के कुल सेक्टरों की संख्या = 16000
डिस्क पर संचित कुल रिकॉर्ड की संख्या = 1,60,000

 


चुंबकीय डिस्क में डाटा सतह  पर संचित होने की बजाय सिलेंडरों( cylinders) में क्रमवार व्यवस्थित होते हैं। चुंबकीय डिस्क की सभी प्लेटें ठीक एक के ऊपर एक लगी हुई होती है । अतः सभी प्लेटों में  किसी एक ही ट्रैक, उध्वाकार ऊपर तथा नीचे, को मिला दिया जाये तो वे एक  खोखले सिलेंडर का निर्माण करते हैं। चूंकि सतह पर 200 तक होते हैं इसलिए एक चुंबकीय डिस्क( Magnetic Disk) में 200 सिलेंडर होते हैं।  रीड / राइट हैड एक साथ आगे-पीछे चलते हैं इस कारण से सिलेंडरों में डाटा को क्रमवार व्यवस्थित करने की आवश्यकता होती है ताकि जब एक सिलेंडर से डाटा पढा जा चुके तब ही हेड अगले सिलेंडर पर जाये।

चुंबकीय डिस्क से लाभ(Benefits of Magnetic Disk)

 
चुंबकीय डिस्क डाटा को सीधे पढ़ने (Direct Access) का माध्यम है।
पुरानी डिस्क ( old disc) पर नये डाटा  को बार – बार लिखा जा सकता है।

चुंबकीय डिस्क से हानि (Loss of magnetic disk)

 
चुंबकीय डिस्क( Magnetic Disk) महंगी होती है।
चुंबकीय डिस्क( Magnetic Disk)  का आकार काफी बड़ा होता हैै


नोट:- इस पोस्ट में आपने पढ़ा कि Magnetic Disk Kya Hai यानि चुंबकीय डिस्क( Magnetic Disk)क्या है इसके लाभ और हानि क्या है?  पूरी जानकारी आपने हिंदी में पढ़ी है। पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें जिससे कि जिससे कि उन्हें भी पता चले कि चुंबकीय डिस्क क्या है।

कंप्यूटर से रिलेटेड और अधिक जानकारी पढ़े:-

👇👇👇👇👇👇👇👇👇👇👇👇

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

DMCA.com Protection Status
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: