Type of Memory in Computer  ( कंप्यूटर मेमोरी के प्रकार) जाने हिंदी मे। 


दोस्तों आज की इस पोस्ट में हम जानेंगे कि Type of Computer Memory यानी कंप्यूटर की मेमोरी क्या होती है यह कितने प्रकार की होती हैं और इसका कंप्यूटर में क्या काम है कंप्यूटर मेमोरी के सभी प्रकारों के बारे में बात करेंगे तो आइए जानते हैं।
types of memory in computer
types of memory in computer

कंप्यूटर मेमोरी के प्रकार (type of memory in Computer )


एक कंप्यूटर में दो प्रकार की स्मृति (memory) पाई जाती है जिन्हें प्रधान स्मृति (Main Memory) तथा अप्रधान स्मृति (Auxiliary Memory)कहते हैं।

प्रधान स्मृति (Main Memory)


प्रधान स्मृति(main memory) को आंतरिक स्मृति या प्राथमिक स्मृति भी कहते हैं।


प्रधान स्मृति के प्रकार ( type of main memory)

यह मेमोरी डाटा प्रोसेसिंग में भाग लेती है  अर्थात प्रोसेसिंग के दौरान डाटा और निर्देशों को संचित करती हैं । प्रोसेसिंग के दौरान उत्पन्न होने वाले विभिन्न परिणामों को भी यही संचित करती हैै।

कंप्यूटर में प्रधान स्मृति(main memory), इंटीग्रेटेड सर्किट(Integrated Circuit or IC) के रूप में उपस्थित होती है। कंप्यूटर में दो प्रकार की प्रधान स्मृतियां पाई जाती है  रैम (RAM) तथा रोम (ROM)। इन दोनों स्मृतियों में निम्नलिखित अंतर होता है -

रैम (RAM -Random Access Memory


इसका पूरा नाम  रैंडम एक्सेस मेमोरी है। इसमें सूचनाओं को लिखा तथा पढ़ा (Read) जा सकता है । यह अस्थाई मेमोरी(temporary memory) होती है । यह वोलेटाइल(volatile) होती हैं अर्थात इसमें सूचनाएं तब तक संचित रहती हैं जब तक कंप्यूटर on हैं।  यह दो प्रकार की होती हैं स्टैटिक(Static) तथा डायनेमिक (Dynamic)।

रौम (ROM- Read Only Memory)

इसका पूरा नाम रीड ओनली मेमोरी () है । इसमें सूचनाओं को सिर्फ पढ़ा जा सकता है। यह स्थाई मेमोरी होती है। यह नॉन वोलेटाइल (Non-Volatile) होती है अर्थात इसमें सूचनाएं तब भी रहती हैं जबकि कंप्यूटर ऑफ हैं । यह दो प्रकार की होती हैं पीरोम( Programmable Read Only Memory) तथा इपीरोम (Erasable Programmable Read Only Memory)। रैम और रोम के बारे में अधिक जानकारी के लिए  क्लिक करें


अप्रधान स्मृति के प्रकार  ( type of Auxiliary memory)



मुख्य स्मृति अत्यधिक तीव्र गति से कार्य करती हैं परंतु इसकी क्षमता सीमित होती है । जिसके कारण समस्त डाटा या सूचनाओं को इसमें नहीं रखा जा सकता है।  अप्रधान स्मृति इसी आवश्यकता को पूरी करती हैं। प्रधान मेमोरी की तुलना में अप्रधान मेमोरी डाटा को स्थाई रूप से संचित करती हैं । इसमें डाटा तब भी संचित रहते हैं जब कंप्यूटर बंद होता है या ये मेमोरी कंप्यूटर से बाहर होती है । हम जब चाहे इस स्मृति से डाटा हटा या परिवर्तित कर सकते हैं । पंचड कार्ड(Punched Card) तथा मैग्नेटिक टेप(Magnetic tape) से आरंभ होकर अप्रधान स्मृति के विभिन्न साधन उपलब्ध हैं। मुख्य रूप से प्रचलित अप्रधान स्मृति के साधन व माध्यम निम्नलिखित है- चुंबकीय टेप और चुंबकीय डिस्क इन दोनों के बारे में अधिक जानकारी के लिए क्लिक करे-



प्रधान मेमोरी और अप्रधान मेमोरी में अंतर

प्रधान मेमोरी यह सीपीयू के अंदर स्थित होती है। इसकी भंडारण क्षमता सीमित होती हैं। इसमें सूचना पुनः प्राप्त करने की गति अधिक होती है। डाटा प्रोसेसिंग के दौरान यह उपयोग में ली जाती हैं। यह अस्थाई मेमोरी होती हैं।
अप्रधान स्मृति यह सीपीयू (CPU-Central  Processing Unit) के बाहर लगी होती है। इसकी भंडारण क्षमता असीमित होती है। इसकी तुलनात्मक रूप से गति कम होती है। यह डाटा प्रोसेसिंग में भाग नहीं लेती हैं। यह स्थाई मेमोरी  होती हैं।


इस पोस्ट में हमने पढ़ा की कंप्यूटर मे मेमोरी के प्रकार (types of memory in computer)के बारे में कि यह दो प्रकार की होती हैं प्रधान मेमोरी और प्रधान मेमोरी इन के बारे में हमने विस्तार से पढा। साथ ही उनके बीच अंतर को भी समझाया।

ये भी पढ़े-