Floppy Disk in Hindi

Floppy Disk in Hindi (फ्लॉपी डिस्क व उसके प्रकार) Full Information

Floppy Disk in Hindi – फ्लॉपी डिस्क क्या है?

Floppy disk in Hindi
Floppy disk in Hindi


फ्लॉपी डिस्क, इसका नाम तो बहुत ही कम ने सुना होगा| आज हम Floppy Disk In Hindi के बारे पुरे विस्तार से बताते है| कि फ्लॉपी डिस्क क्या है, फ्लॉपी डिस्क के प्रकार कौनसे है, इसके लाभ- हानि आदि के बारे में तो आईये शुरु करते है|


What Is the Floppy Disk?

Floppy Disk IBM के द्वारा 70 के दशक के आरम्भ में डाटा संचय करने का एक माध्यम है| यह उपकरण पतले प्लास्टिक के व्राताकर टुकड़े पर चुम्बकीय प्रदार्थ की परत चढाकर बनाया गया है| प्लास्टिक के इस टुकड़े को एक वर्गाकार संरक्षी आवरण में रखा जाता है| जब Floppy Disk को कंप्यूटर में डाला जाता है| तो यह अपने आवरण में घुमती है जिससे इस पर डाटा संचित किये जाते है| या संचित डाटा को पढ़कर कंप्यूटर की मेमोरी में स्थानांतरित किये जाते है|
 
ये डिस्क विभिन आकार व् प्रकारों में उपलब्ध होती है यद्यपि मूलरूप से विकसित Floppy 8” व्यास की थी| आजकल ये डिस्क 5 ¼” तथा 3 ½” व्यास में भी उपलब्ध है| Floppy Disk Drive की दोनों सतहों को सकेंद्रित वृतो में विभाजित किया जाता है, जिन्हें ट्रैक कहते है| प्रत्येक ट्रैक पुनः सेक्टरो में विभाजित होता है| फ्लॉपी पर ट्रैको तथा सेक्टरो की संख्या विभिन्न कंप्यूटरो पर अलग-अलग होता है|

Floppy Disk in Hindi (फ्लॉपी डिस्क इन हिंदी)

Computer की फ्लॉपी यानि (Floppy Disk of Computer) पर संचित डाटा को पढने के लिए कंप्यूटरो में डिस्क ड्राइव होती है|  फ्लॉपी के बिच में बड़ा छिद्र ड्राइव में मजबूती से पकड़ा रहता है| तथा उसे 300 से 600 परिक्रमण प्रति मिनट की दर से घुमाता है| डाटा को पढने या लिखने के लिए ड्राइव का रीड / राईट हेड धूमती हुई डिस्क की खुली सतह पर टिका होता है| Floppy disk Buy– इस लिंक पर जाकर आप खरीद सकते है| Floppy disk Drive.
 

Types of Floppy Disk Drive (फ्लॉपी डिस्क के प्रकार)

सामान्यत: 5 ¼” आकार की Floppy Disk Types में पाई जाती है|

Single Sided Single Density

इसकी एक ही सतह पर डाटा संचित होते है तथा यह एक सेक्टर में 256 Bytes संचित करने की क्षमता रखती है| इसकी कुल floppy disk capacity 90 KB होती है|


Single Sided Double Density

इसकी एक ही सतह पर डाटा संचित होते है| तथा यह एक सेक्टर में 512 Bytes संचित करने की क्षमता रखती है| इसकी कुल भंडारण क्षमता 180 KB होती है|

Double Sided Single Density

यह दोनों सतहो पर डाटा संचित कर सकती है तथा यह एक सेक्टर में 256 Bytes संचित करने की क्षमता रखती है| इसकी कुल भंडारण क्षमता 180 KB होती है|

 

Double Sided Double Density

इसकी दोनों सतहो पर डाटा संचित होते है तथा यह एक सेक्टर में 512 Bytes संचित करने की क्षमता रखती है| इसकी कुल floppy disk storage capacity 360 KB होती है|
 

Double Sided High Density

इसकी दोनों सतहो पर डाटा संचित होते है तथा यह एक सेक्टर में 1024 Bytes संचित करने की क्षमता रखती है| इसकी कुल भंडारण क्षमता 1.2 MB होती है|
 

फ्लॉपी डिस्क के लाभ (Advantages of Floppy Disk)

  1. यह यानि Floppy Disk Size में छोटी होती है अत: इसे आसानी से एक जगह से दूसरी जगह पर ले जाया जा सकता है|
  2. इस पर संचित डाटा Direct Access (सीधे पढ़े) जा सकते है|
  3. पुराने डाटा पर नये Data Store करके इसे पुनः उपयोग में लाया जा सकता है|

फ्लॉपी डिस्क से हानि (Disadvantages of Floppy Disk)

  1. इस पर संचित डाटा को सिर्फ Machine के द्वारा ही पढ़ा जा सकता है|
  2. यह एक अत्यंत कोमल वस्तु है अत: इसे विशेष देख-रेख की आवश्यकता होती है|

सारांश –
 
इस पोस्ट में हमने पढ़ा की Floppy Disk in Hindi यानि फ्लॉपी डिस्क क्या है| तथा साथ ही में हमने Floppy Disk Types, advantage, Disadvantages के बारे में बारे में विस्तार से जाना है| अब भी अगर आपके मन में Floppy Disk को लेकर कुछ प्रश्न है? जैसे What is the floppy disk? तो हमें कमेंट करके जरुर पूछे| साथ पोस्ट को अपने दोस्तों में शेयर करे|

कंप्यूटर से सम्बन्धी जानकारी पढ़े :-

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

DMCA.com Protection Status
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: