Computerknowledge

Floppy Disk in Hindi (फ्लॉपी डिस्क व उसके प्रकार) Full Information

Floppy Disk in Hindi
Written by Ganpat Ram

Floppy Disk in Hindi – फ्लॉपी डिस्क क्या है?

Floppy disk in Hindi
Floppy disk in Hindi


फ्लॉपी डिस्क, इसका नाम तो बहुत ही कम ने सुना होगा| आज हम Floppy Disk In Hindi के बारे पुरे विस्तार से बताते है| कि फ्लॉपी डिस्क क्या है, फ्लॉपी डिस्क के प्रकार कौनसे है, इसके लाभ- हानि आदि के बारे में तो आईये शुरु करते है|


What Is the Floppy Disk?

Floppy Disk IBM के द्वारा 70 के दशक के आरम्भ में डाटा संचय करने का एक माध्यम है| यह उपकरण पतले प्लास्टिक के व्राताकर टुकड़े पर चुम्बकीय प्रदार्थ की परत चढाकर बनाया गया है| प्लास्टिक के इस टुकड़े को एक वर्गाकार संरक्षी आवरण में रखा जाता है| जब Floppy Disk को कंप्यूटर में डाला जाता है| तो यह अपने आवरण में घुमती है जिससे इस पर डाटा संचित किये जाते है| या संचित डाटा को पढ़कर कंप्यूटर की मेमोरी में स्थानांतरित किये जाते है|
 
ये डिस्क विभिन आकार व् प्रकारों में उपलब्ध होती है यद्यपि मूलरूप से विकसित Floppy 8” व्यास की थी| आजकल ये डिस्क 5 ¼” तथा 3 ½” व्यास में भी उपलब्ध है| Floppy Disk Drive की दोनों सतहों को सकेंद्रित वृतो में विभाजित किया जाता है, जिन्हें ट्रैक कहते है| प्रत्येक ट्रैक पुनः सेक्टरो में विभाजित होता है| फ्लॉपी पर ट्रैको तथा सेक्टरो की संख्या विभिन्न कंप्यूटरो पर अलग-अलग होता है|

Floppy Disk in Hindi (फ्लॉपी डिस्क इन हिंदी)

Computer की फ्लॉपी यानि (Floppy Disk of Computer) पर संचित डाटा को पढने के लिए कंप्यूटरो में डिस्क ड्राइव होती है|  फ्लॉपी के बिच में बड़ा छिद्र ड्राइव में मजबूती से पकड़ा रहता है| तथा उसे 300 से 600 परिक्रमण प्रति मिनट की दर से घुमाता है| डाटा को पढने या लिखने के लिए ड्राइव का रीड / राईट हेड धूमती हुई डिस्क की खुली सतह पर टिका होता है| Floppy disk Buy– इस लिंक पर जाकर आप खरीद सकते है| Floppy disk Drive.
 

Types of Floppy Disk Drive (फ्लॉपी डिस्क के प्रकार)

सामान्यत: 5 ¼” आकार की Floppy Disk Types में पाई जाती है|

Single Sided Single Density

इसकी एक ही सतह पर डाटा संचित होते है तथा यह एक सेक्टर में 256 Bytes संचित करने की क्षमता रखती है| इसकी कुल floppy disk capacity 90 KB होती है|


Single Sided Double Density

इसकी एक ही सतह पर डाटा संचित होते है| तथा यह एक सेक्टर में 512 Bytes संचित करने की क्षमता रखती है| इसकी कुल भंडारण क्षमता 180 KB होती है|

Double Sided Single Density

यह दोनों सतहो पर डाटा संचित कर सकती है तथा यह एक सेक्टर में 256 Bytes संचित करने की क्षमता रखती है| इसकी कुल भंडारण क्षमता 180 KB होती है|

 

Double Sided Double Density

इसकी दोनों सतहो पर डाटा संचित होते है तथा यह एक सेक्टर में 512 Bytes संचित करने की क्षमता रखती है| इसकी कुल floppy disk storage capacity 360 KB होती है|
 

Double Sided High Density

इसकी दोनों सतहो पर डाटा संचित होते है तथा यह एक सेक्टर में 1024 Bytes संचित करने की क्षमता रखती है| इसकी कुल भंडारण क्षमता 1.2 MB होती है|
 

फ्लॉपी डिस्क के लाभ (Advantages of Floppy Disk)

  1. यह यानि Floppy Disk Size में छोटी होती है अत: इसे आसानी से एक जगह से दूसरी जगह पर ले जाया जा सकता है|
  2. इस पर संचित डाटा Direct Access (सीधे पढ़े) जा सकते है|
  3. पुराने डाटा पर नये Data Store करके इसे पुनः उपयोग में लाया जा सकता है|

फ्लॉपी डिस्क से हानि (Disadvantages of Floppy Disk)

  1. इस पर संचित डाटा को सिर्फ Machine के द्वारा ही पढ़ा जा सकता है|
  2. यह एक अत्यंत कोमल वस्तु है अत: इसे विशेष देख-रेख की आवश्यकता होती है|

सारांश –
 
इस पोस्ट में हमने पढ़ा की Floppy Disk in Hindi यानि फ्लॉपी डिस्क क्या है| तथा साथ ही में हमने Floppy Disk Types, advantage, Disadvantages के बारे में बारे में विस्तार से जाना है| अब भी अगर आपके मन में Floppy Disk को लेकर कुछ प्रश्न है? जैसे What is the floppy disk? तो हमें कमेंट करके जरुर पूछे| साथ पोस्ट को अपने दोस्तों में शेयर करे|

कंप्यूटर से सम्बन्धी जानकारी पढ़े :-

About the author

Ganpat Ram

दोस्तों मेरा Ganpat Enkeya है। मैं Computer Education में O-level और Basic Education में BA Final हूँ। मैंने ब्लॉग्गिंग की शुरुआत 2018 में की। मेरे ये ब्लॉग कंप्यूटर की जानकारी से रिलेटेड है। साथ में Internet, Mobile tips, Festival, Biography आदि के बारे में जानकारी दी है।

Leave a Comment

DMCA.com Protection Status