Characteristics of Computer In Hindi : इलेक्ट्रॉनिक मशीन – Computer  एक अपने आप चलने वाली इलेक्ट्रॉनिक मशीन है जो कि गणना करने और विभिन्न कार्यो को नियंत्रित करने के काम आता है.  जिन्हें अंको व तर्को के रूप परिभाषित किया जा सकता है. दूसरे शब्दो में कंप्यूटर इन्फॉर्मेशन के साथ कार्य करने के लिए , कंप्यूटर  वर्ड लैटिन के वर्ड ‘कॉम्प्यूटर’ से लिया गया है जिनका अर्थ है –  “गणना” करना यानी प्रोग्रामेबल मशीन कहते है.

"<yoastmark

Features/ Characteristics of Computer In Hindi (कंप्यूटर की विशेषतायें)

कंप्यूटर के अभिलक्षण – Computer से हम बहुत से ऐसे difficult कार्य करवा सकते है. जो मनुष्य के द्वारा तो दक्षता से नहीं किया जा सकता है. कंप्यूटर के कई ऐसे Characteristics है जो इसे Powerful बनाते है. जैसे-

स्वचालन (Automation)
गति (Speed)
परिशुद्धता (Accuracy)
विश्वसनीयता (Reliability)
उच्च भंडारण क्षमता (High Storage Capacity)
बहुआयामी या सार्वभौमिक उपयोगिता (Versatile)
मानव शक्ति की आवश्यकता में कमी (Reduction in Manpower)
कागजी कार्य मे कमी (Reduction in Paper Work)
सक्षमता (Dilligence)
स्मृति में स्थित डाटा तीव्रता से खोजकर प्रस्तुत करने की क्षमता (Power of Recall)

स्वचालन (Automation)

कंप्यूटर सभी गणना कार्य एवं data processing कार्य खुद automatically रूप से करता है. इसमे user द्वारा एक बार data enter करके निर्देश देने के बाद ये बाकी काम खुद ही करता हूं. यानि computer द्वारा कार्य सम्पन्न करने के लिए व्यक्तियों की जरूरत न्यूनतम ही रहती है. यह इसके यह , इसके operator द्वारा संग्रहित program या command के अनुसार प्रक्रियांकन कर निर्देशों के अनुरूप ही result या output प्रदान करता है. अतः यह प्रक्रिया के दौरान operator के control के बिना स्वतः क्रियाशील रहता है और हमारे इच्छित result provide करता है. अत : computer में स्वचालन का गुण होता है.

ये भी पढ़े :
कंप्यूटर क्या होता है?
सॉफ्टवेयर क्या होता है?
टेलनेट क्या है?

गति (Speed)

Computers का सर्वप्रथम , सबसे important व सबसे बड़ा गुण गणना करने की उसकी तीव्र speed ही है . Computer बिना त्रुटि किए आश्चर्यजनक High Speed से कार्य complete करते हैं. जो कार्य general person द्वारा कई hours में complete किया जाता है वही कार्य computer द्वारा एक second के भी अतिसूक्ष्म भाग में सम्पन्न हो जाता है . कम्प्यूटर्स की गति को मिली सेकण्ड ( 10-3 सेकण्ड ) , माइक्रोसेकण्ड ( 10 सेकण्ड ) व नेनो सेकण्ड ( 10 सेकण्ड ) के पदों में मापा जाता है. एक powerful computer बिलियन गणनाएँ सैकण्डों में पूर्ण कर लेते हैं । इसके अलावा computer रात – दिन काम करते रहने के बावजूद थकता नहीं है. इसे आराम की आवश्यकता नहीं रहती.

परिशुद्धता ( Accuracy )

कम्प्यूटर अपने work को अत्यधिक परिशुद्धता के साथ व बिना त्रुटि के complete करता है. यह समंको या data की प्रक्रिया में Processing में कोई त्रुटि नहीं करता है. यह केवल गलत आंकड़े Input करने पर या गलत command देने पर ही त्रुटिपूर्ण information या result प्रेषित करता है.

विश्वसनीयता ( Reliability )

कम्प्यूटर की स्मरणशक्ति व accuracy अत्यधिक high stage की होती है , जिस कारण computer में या इससे जुड़ी सभी प्रक्रियाएँ reliability होती हैं. कम्प्यूटर में सुरक्षित data एवं information हम किसी भी अवधि के बाद पुनः उससे प्राप्त कर सकते हैं . इस प्रकार कम्प्यूटर्स , मनुष्य से भी अधिक reliability है क्योंकि ये मनुष्यों की तरह बार – बार Repetitive task से कभी बोर होकर थकते नहीं हैं. ये Characteristics of Computer In Hindi में सबसे अच्छा features है.

ये भी पढ़े:

कंप्यूटर की पीढ़िया कौनसी है?
इनपुट डिवाइस क्या होता है?
प्रिंटर क्या होता है?

बहुआयामी या सार्वभौमिक उपयोगिता ( Versatile )

कंप्यूटर different types के कार्य complete कर सकता है. एक साथ भी इससे कई work किए जा सकते हैं. इस पर किसी टेक्स्ट ( text ) की typing के दौरान या इस पर game खेलने के दौरान song सुने जा सकते हैं. किसी package पर work के दौरान , calculation , image बनाना , ग्राफ बनाना , नेट को सर्फ करना , E-mail करना आदि कार्य complete किए जा सकते हैं. इस प्रकार computer अब मानव जीवन के अधिकांश कार्यो में व्यापक रूप से प्रयुक्त किया जाने लगा है. अब इसका प्रयोग शिक्षा , चिकित्सा , उद्योग , वैज्ञानिक , खगोलशास्त्र , अंतरिक्ष अनुसंधान , बैंकिंग एवं वित्त , यातायात , खेलकूद , ज्योतिष , साहित्य एवं प्रकाशन आदि सभी क्षेत्रों में किया जाने लगा है.

मानव शक्ति की आवश्यकता में कमी ( Reduction in Manpower )

पहले औद्योगिक इकाइयों और कारखानों में / कार्य के लिए बड़ी संख्या में व्यक्तियों की आवश्यकता होती थी । कम्प्यूटर के उपयोग में लाने के बाद इन संस्थानों में वही कार्य , विना त्रुटि के व अधिक परिशुद्धता के साथ केवल कुछ ही व्यक्तियों की मदद से पूर्ण कर लिया जाता है । कम्प्यूटर के आविष्कार व उपयोग ने मानव शक्ति की आवश्यकता को कम कर दिया है ।

ये भी पढ़े:
माइक्रो कंप्यूटर क्या होता है?
मिनी कंप्यूटर क्या है?
मेनफ़्रेम कंप्यूटर की पूरी जानकारी!

स्मृति में स्थित डाटा तीव्रता से खोजकर प्रस्तुत करने की क्षमता ( Power of Recall )

एक व्यक्ति अपने जीवन में असंख्य गतिविधियाँ complete करता है और वह केवल important बातों और गतिविधियों को ही ध्यान में रखता है. लेकिन computer इसकी memory में स्थित सभी बातें , चाहे वह important हों या न हों , जरूरत पड़ने पर समान रूप से प्रयुक्तकर्ता को उपलब्ध कराता है तथा यह information बहुत वर्षों के बाद भी उतनी ही शुद्ध रहती है जितनी कि यह store करते समय थी. कम्प्यूटर की उपरोक्त सभी मुख्य Characteristics ने इसे आज की समस्त कार्यप्रणाली का अत्यावश्यक व अभिन्न अंग बन दिया है. शिक्षण – अधिगम कार्य के क्षेत्र में भी कम्प्यूटर का उपयोग इसे अधिक संगठित , रुचिकर व सहज बनाता है.

सक्षमता ( Diligence )

एक जड़ machine होने के कारण computer पर बाहरी वातावरण का कोई प्रभाव नहीं पड़ता. वह किसी भी work को बिना रुके लाखों – करोड़ों बार करता रह सकता है. मानव तथा अन्य प्राणियों की तरह उसे थकान, भूख, प्यास, ऊब आदि का अनुभव नहीं होता और समय, स्थान, मौसम आदि का उसके ऊपर कोई प्रभाव नही होता है. अपनी full power से work करते रहने के लिए उसे केवल धूलरहित वातावरण और उचित तापमान की ही आवश्यकता होती है. इस गुण के कारण कम्प्यूटर प्राय : हर स्थिति में कार्य करने में सक्षम होता है.

निष्कर्ष

इस पोस्ट में आपने कंप्यूटर की विशेषताओं (Characteristics of Computer In Hindi) के बारे में जाना. इसमे कंप्यूटर के सभी खासियत के बारे में अच्छे से वर्णन किया गया है. जो कि computer की value बढ़ाते है.

दोस्तो अगर ये पोस्ट आपके लिए लाभदायक साबित होती है. या फिर अच्छी लगी हो तो इसे अपने सोशल मीडिया प्रोफाइल में शेयर जरूर करें. कंप्यूटर की विशेषता से संबंधित कोई प्रश्न हो तो कमेंट करके पूछे.