Raksha Bandhan 2021 Date || Raksha Bandhan Kab Hai? जानें राखी त्यौहार

इसे शेयर करें

नमस्कार दोस्तो हर वर्ष के भांति इस साल भी रक्षाबंधन नजदीक आ रहा है. इंटरनेट पर लोग पूछ रहे है कि Raksha Bandhan Kab Hai. इस साल में Raksha Bandhan 2021 Date क्या है?. तो बता देते है कि इस वर्ष रक्षाबंधन sunday 22 अगस्त 2021 के दिन को मनाया जाएगा. इस पोस्ट में आपको रक्षाबंधन यानि राखी त्यौहार क्या है? राखी त्यौहार कब है? रक्षाबंधन क्यों मनाया जाता है?रक्षाबंधन कैसे मनाया जाता है? राखी क्या होती है? आदि जानकारी पढ़ने को मिलेगी. तो आइए शुरू करते है कि Raksha Bandhan Kya hai?

 

raksha bandhan date 2021

Raksha Bandhan Kya Hota Hai?

Rakshabandhan के दिन विशेष नक्षत्रों में बहने  अपने भाई की दीर्घ आयु यश ,बल ,विद्या में वृद्धि की कामना करते हैं. वह घर आंगन को सजाकर मंगल थाली में मंगल कलश के  साथ  तिलक लगाती हैं एवं मिठाई खिलाकर ढेरों दुआएं देती जाती हैं.

पोस्ट नामRaksha Bandhan 2021 Date
रक्षाबंधन कब है?रविवार, 22 अगस्त 2021 || श्रावण पूर्णिमा
रक्षाबंधन क्या है?भाई-बहन के रिश्ते का त्यौहार
आधिकारिक नामरक्षाबंधन, राखी पूर्णिमा

यह भी पढ़े:-

रक्षा बंधन क्यों मनाया जाता है 2021 || Raksha Bandhan Story in Hindi

काफी लोगो को तो ये भी पता नहीं है कि raksha bandhan kyu manaya jata hai in hindi. हमने इस पोस्ट में रक्षाबंधन क्यों मनाया जाता है समझाने के लिए कुछ आधार बताए है. जिनको पढ़ कर आप समझ जाएंगे कि राखी त्यौहार क्यों मनाया जाता है. रक्षाबंधन मनाने के कई आधार है.

राखी त्यौहार मनाने के पौराणिक आधार

भविष्य पुराण के अनुसार एक बार राजा बलि ने इंद्र को हरा दिया और अमरावती पर अपना राज्य स्थापित कर लिया  तब इंद्र की पत्नी शची ने भगवान विष्णु के सामने हाथ जोड़कर विनती की तो त्रिलोकीनाथ में शची को एक सूती धागा दिया और कहा इसे इंद्र की कलाई में बांधों  इंद्रजीत हो जाएंगे शची ने ऐसा ही किया इसके बाद इंद्र ने बलि को हरा दिया और अपना राज्य वापस पा लिया ।तभी से राखी बांधने की परंपरा शुरू हुई ।

एक बार वामन अवतार में राजा बलि से तीन पैर भूमि मांगने के बाद बलि ने भगवान विष्णु से पाताल में रहने का वचन ले लिया तो चिंतित हुई लक्ष्मी ने बलि को राखी बांधी और भगवान विष्णु को वापस ला सकी यह भी rakhi bandhan पर राखी बांधने का आधार है ।

रक्षा बंधन मनाने का महाभारत आधार

जब श्री कृष्ण ने 100 गलती पूरी होने पर शिशुपाल को मारने के लिए सुदर्शन चक्र चलाया तो उनकी उंगली कट गई उस समय द्रोपदी ने अपनी साड़ी के छोर को फाड़कर राखी बांधी और चीरहरण के समय द्रौपदी की लाज  बचा कर कृष्ण ने उसी राखी का फर्ज अदा किया ।तब से रक्षाबंधन को राखी पूनम के रूप में मनाया जाता है। इसमें आपको रक्षा बंधन का इतिहास भी समझ में आ जायेगा.

रक्षा बंधन के मनाए जाने का ऐतिहासिक कारण

एक बार अपनी रक्षा के लिए हाड़ीरानी कर्मावती ने भी हुमायूं( मुगल बादशाह) के पास राखी भेजी थी और हुमायूं ने मुसलमान होते हुए भी युद्ध के समय हाडी रानी की रक्षा की ।

वृक्ष और rakshabandhan में संबंध

कहते हैं कि प्राचीन काल में तुलसी व नीम के पेड़ की रक्षा के लिए राखी बांधी जाती थी यह परंपरा मध्यकाल में बंद हो गई मगर वर्तमान में फिर से पर्यावरण के महत्व को समझते हुए वृक्षों को राखी बांधने की परंपरा देखी जाने लगी है।

Raksha Bandhan Ka Matlab Kya Hai?

रक्षा बंधन स्नेह और प्यार का प्रतीक है. यह प्यार को दर्शाने के लिए मनाया जाता है. रक्षाबंधन का वास्तविक मतलब भी ये ही होता है कि किसी को अपनी रक्षा के लिए बांध लेना. इसमे हर भी अपनी बहन के सुख दुख में उसकी रक्षा करता है. इसलिए बहन अपने भाई को रक्षा करने के लिए राखी बांधती है. शायद अब आप समझ गए होंगे कि रक्षाबंधन का मतलब क्या है.

Raksha Bandhan Date 2021 और Raksha Bandhan Muhurat

Raksha bandhan kab hai 2021 – इस वर्ष sunday 22 अगस्त 2021 के दिन इस पवित्र त्योहार को मनाया जाएगा। दो rakhi purnima होने के कारण 21 अगस्त 2021 को शाम 3:45 से पूनम लगेगी । सूर्योदय के प्रारंभ होने वाली तिथि के अनुसार 22 अगस्त 2021 को सुबह 5:50 से शाम 6:30 तक  पूर्णिमा रहेगी।
इस दिन धनिष्ठा नक्षत्र भी है । 5:14 शाम से 6:00 पर 49 मिनट शाम *राहु काल बेला* रहेगी इसमें शुभ कार्य वर्जित होंगे। 9:34 प्रातःकाल से 11:07 तक अमृत काल का rakhi muhurat है।12:00 बजे 12:04 दोपहर से 12:55 दोपहर तक अभिजीत मुहूर्त है। शायद आपको समझ में आ गया होंगा कि Raksha bandhan kab hai और Raksha Bandhan Date 2021.

Raksha Bandhan Kab Hai

रक्षाबंधन को किन किन नामो से जानते है?

रक्षा बंधन को कई नामो से जाना जाता है, जैसे कि Rakshabandhan, राखी  सलोणी, रक्षिका रक्षा सूत्र आदि के नाम से जाना जाता है.

Raksha Bandhan Ka Mahatva ( राखी का महत्व)

रक्षा बंधन पर्व भाई बहन के रिश्तों की अटूट डोर का प्रतीक है. Indian cultural का यह एक इस त्यौहार है, जो भाई बहन के स्नेह और प्यार के साथ साथ हर Social संबन्ध को मजबूत करता है. इसलिए यह त्यौहार भाई-बहन को आपस में जोडने के साथ साथ सांस्कृ्तिक, सामाजिक महत्व भी रखता है. when is raksha bandhan in 2021

Rakhi Kya Hoti Hai इसका मतलब क्या है?

राखी रेशम को डोरी का एक धागा होता है जो रक्षा बंधन पर बहुत महत्वपूर्ण होती है. यह प्यार और स्नेह का प्रतीक है. साधारण शब्दों में कहे तो राखी बहनें अपने भाइयों के हाथ में बाँधती हैं. रक्षाबंधन के दिन बहन अपने भाई के मस्तक पर टीका लगाकर रक्षा का बंधन बांधती है, जिसे राखी कहा जाता है. यही राखी का मतलब होता है.

Raksha Bandhan Kaise Manaya Jata Hai?

इस दिन सभी घरों को सजाते हैं.  रंगोली बनाई जाती हैं. नए वस्त्र पहनते हैं. घर में कई तरह की मिठाई व पकवान बनते हैं. इस दिन सुबह दरवाजों पर श्रवण  माण्ड कर उनकी पूजा की जाती है. लड्डू मीठे चावल या खीर से भोग लगाया जाता है. फिर बहने एक मंगल थाली में मंगल कलश मंगल कुमकुम रोली, मोली, अक्षत, फल, मिठाई, नारियल व राखी सजाकर भाई को चौकी पर बैठाती हैं. उनको तिलक करके चावल लगाते हैं, मिठाई खिलाते हैं. उनके हाथ पर रक्षा कवच अर्थात राखी बाँधती हैं. भाई बहनों को सदैव रक्षा का वचन देते हैं, साथ ही ढेर सारे उपहार भी देते हैं.

Raksha Bandhan Me Kya Gift De (राखी पर क्या उपहार दे)

  • उपहार देना भी एक कला है उपहार में हमें ऐसी वस्तु देनी चाहिए.
  • जो खास हो उसके लिए अपने हाथ से हुनर का इस्तेमाल करना सबसे बेहतर होता है.
  • अपने हाथ से बनी कोई भी चीज जैसे फोटो फ्रेम बुकमार्क बेस्ट आउट ऑफ बेस्ट, कुशन कालीन आदि देना चाहिए.
  • पुस्तक सबसे अच्छा उपहार होती हैं इसलिए अच्छी पुस्तकें उपहार में देनी चाहिए.
  • डायरी फ्रेंड भी अच्छा उपहार है इसमें आपकी बहन आप दोनों की स्मृतियों को संजोकर रख सके.
  • कोरोनावायरस विनाश को देखते हुए, हमें इस दिन पर्यावरण की रक्षा का वचन भी लेना चाहिए व गिफ्ट में पौधे भी देना चाहिए.

Best wishes for brother on Rakhi

बहने भाई के बुद्धि बल यश और स्वास्थ्य की तो कामनाएं करती ही हैं. उन्हें अपने और दुनिया भर के भाइयों के लिए नैतिक व चारित्रिक उत्थान की भी कामना करना चाहिए. जिससे वह अपनी बहन ही नहीं अपितु दुनिया भर की बहन की रक्षा के लिए तैयार हो सके. वे ईमानदार दयालु दूसरों के दुख को अपना दुःख समझने वाले बन सकें. राष्ट्र के प्रति प्रेम व त्याग की भावना का जन्म हो.

बहन-भाई के लिये शायरी on Rakhi Subh Muhurat

1.

रक्षाबंधन का त्यौहार है प्यारा,
भाई – बहन का स्नेह है न्यारा ।
सज़ाकर    कलाई   पर  राखी,
रक्षा का दायित्व निभाना भैया ।।

2.

थाली सज़ा ले आई बहना,
रोली – मोली, धागा हेत का।
अहसास नेह का अपार है दिलों में,
फुले न समाई पाकर उपहार प्यार का।।

Raksha Bandhan Me Corona Guidelines Kya Hai?

कोरोना से जूझते विश्व में इसकी तीसरी लहर भी जब दस्तक दे चुकी है ऐसे कठिन समय में हार माने बगैर पूरे उत्साह के साथ राखी मनाए।

  • अधिक भीड़ भाड़ में न जाएं घर पर रहे ।
  • जहां तक हो सके यात्रा से बचें अगर आप ज्यादा दूर हैं तो पब्लिक ट्रांसपोर्ट से यात्रा करने से बचें । और इस बार वृक्ष रक्षाबंधन मनाएं क्योंकि जान है तो जहान है।
  • बाहर की मिठाइयों और चॉकलेट के प्रयोग से बचें ।
  • अपनी परंपरागत मिठाई बनाए खाए व खिलाए ।
  • अपने हाथ से बना हुआ उपहार दें।
  • एक वृक्ष जरूर लगाएं।

निष्कर्ष :-

यह पोस्ट Raksha Bandhan 2021 Date || Raksha Bandhan Kab Hai? आपने राखी त्यौहार की पूरी जानकारी  ध्यान से पढ़ी होगी. मैंने इस पोस्ट में रक्षाबंधन के बारे काफी कुछ बताया है. आशा करता हूँ कि आपको ये आर्टिकल पसंद आया होगा. इसे अपने सभी सोशल मीडिया पर शेयर जरूर करे.


इसे शेयर करें

Add Comment