नेटवर्क टोपोलॉजी क्या है यह कितने प्रकार के होते हैं? – 6 Types Topology

Rate this post

आज हम बात करने वाले है कि नेटवर्क टोपोलॉजी क्या है और नेटवर्क टोपोलॉजी कितने प्रकार के होते है. जानिए कि Network Topology Kya Hai in Hindi, What Is Topology In Hindi इसके अलावा Network Topology Meaning In Hindi के साथ साथ हमने इस लेख में Network Topology ke Prakar के बारे में भी पूरी जानकारी विस्तार से दी है. Computer Network कई प्रकार के होते है.

नेटवर्क टोपोलॉजी क्या है? (Network Topology Kya Hai In Hindi)

Contents

इसके इन प्रकारों के माध्यम ही Data या information को किसी दूसरे Device तक पहुँचाया जाता है. जब किसी प्रकार के 2 Device आपस में जुड़ते है और किसी तरह की डाटा या इनफार्मेशन को शेयर करते है तो इसे Network कहा जाता है. Network का जो पूरा Design होता है उसे कैसे तैयार करना है, किस तरह के उसके प्रकार होते है इसे Network Topology कहा जाता है.

नेटवर्क टोपोलॉजी क्या है
नेटवर्क टोपोलॉजी क्या है

Network Topology in Hindi :- नेटवर्क टोपोलॉजी विभिन्न Nodes या Terminal को एक दुसरे को जोड़ने का एक तरीका होता है. ये विभिन्न प्रकार के Nodes के बीच भौतिक संरचना को दर्शाने का कार्य करता है. नेटवर्क संरचना का मतलब होता है कि network तारों की तर्कपूर्ण व्यवस्था करना. अन्य शब्दों में, कई computers का आपस में जुड़ने का ढंग ही “Network Topology’ कहलाता है.

सरल शब्दों में कहे तो टोपोलॉजी नेटवर्क की आकृति कह लें, या Layout को कहा जाता है. टोपोलॉजी हमें नेटवर्क के विभिन्न नोट एक दूसरे से कैसे जुड़े  कैसे बातचीत करते हैं. नेटवर्क टोपोलॉजी की खासियत विभिन्न Notes के बीच भौतिक संरचना को दिखाता है. कंप्यूटरों को एक दूसरे से ,जोड़ने का डाटा विधि ही नेटवर्क टोपोलॉजी कहलाता है. टोपोलॉजी फिजिकल या लॉजिकल होता है.

किसी नेटवर्क में कंप्यूटर के ज्यामिति व्यवस्था को टोपोलॉजी कहते हैं. टोपोलॉजी के बारे में अधिक जानने के लिए आपको Network Topology Ki Definition के बारे जानना जरुरी है.

नेटवर्क टोपोलॉजी कितने प्रकार के होते है?

नेटवर्क टोपोलॉजी कई प्रकार की होती है. नेटवर्क को बनाने के लिए कई तरह की टोपोलॉजी का प्रयोग किया जाता है. जिनके बारे निचे विस्तार से समझाया गया है. Network Topology Ke Prakar निम्नलिखित है-

नेटवर्क टोपोलॉजी कितने प्रकार के होते है
नेटवर्क टोपोलॉजी कितने प्रकार के होते है
  • रिंग टोपोलॉजी (Ring Topology)
  • बस टोपोलॉजी (Bus Topology)
  • स्टार टोपोलॉजी (Star Topology)
  • मैश टोपोलॉजी (Mesh Topology)
  • ट्री टोपोलॉजी (Tree Topology)
  • हाईब्रिड टोपोलॉजी (Hybrid Topology)

ये भी पढ़े:-

रिंग टोपोलॉजी क्या है (Ring Topology In Hindi)

रिंग टोपोलॉजी किसे कहते हैं : इस प्रकार का network रिंग बनाने का काम करता है. रिंग नेटवर्क अंतिम computer को सबसे पहले वाले कंप्यूटर से जोड़ता है. इसमें device अपने पास के 2 devices से जुड़ी हुई होती है. सभी device में 2 NIC (Network Interface Card) लगे हुये होते है. इस प्रकार network का एक Circle बनता है जिससे data एक ही दिशा में Flow होता है.

Ring Topology in Hindi
नेटवर्क टोपोलॉजी क्या है

Ring Topology में कोई host मुखिया कंट्रोलिंग कंप्यूटर नहीं होता है इसमें सभी कंप्यूटर एक गोलाकार आकृति के लगे होते हैं।, इस टोपोलॉजी को सर्कुलर टोपोलॉजी भी कहा जाता है।

Ring Topology Advantages and Disadvantages in Hindi

रिंग टोपोलॉजी के लाभ:- (Ring Topology Advantages In Hindi)

यह टोपोलॉजी स्टार्ट तो कॉलेज की अपेक्षा अधिक विश्वसनीय होती है क्योंकि कम्युनिकेशन में सभी कंप्यूटर सहभागी होते हैं। आइये Ring Topology ke Fayde के बारे में जानते है.

  • यह नेटवर्क किसी एक कंप्यूटर पर निर्भर नहीं रहता है.
  • इस टोपोलॉजी में एक नेटवर्क बंद हो जाता है तो दूसरी दिशा के द्वारा काम कर सकते है.
  • इस network की गति बेहद अच्छी होती है.
  • रिंग नेटवर्क टोपोलॉजी को Manage करना बेहद आसान होता है.
  • इसको install करने में लागत भी बहुत कम आती है.
  • Ring topology में central device की जरुरत नहीं होती है.


रिंग टोपोलॉजी के नुकसान:- (Ring Topology Disadvantages In Hindi)

इस नेटवर्क की गति कंप्यूटर की गति पर निर्भर करती है. यदि कंप्यूटर की संख्या मे कम है, तो गति अधिक होगी. यदि कंप्यूटर की संख्या ज्यादा है तो गति कम होगी. स्टार नेटवर्क की तुलना में कम प्रचलित है, क्योंकि इस नेटवर्क पर काम करने के लिए अत्यंत जटिल सॉफ्टवेयर की आवश्यकता होती है. आईये Ring Topology Ke Nuksan (रिंग टोपोलॉजी की हानि) के बारे में स्टेप बाय स्टेप समजते है.

  • रिंग टोपोलॉजी नेटवर्क में कंप्यूटर आपस में एक-दूसरे पर निर्भर होते है.
  • इसमें कोई एक कंप्यूटर के खराब होने पर पूरा नेटवर्क ही खराब हो जाता है.
  • इस टोपोलॉजी का ट्रबलशूटिंग करना बेहद कठिन काम होता है.

बस टोपोलॉजी क्या है (What is Bus Topology In Hindi)

Bus Topology Kya Hai:- बस टॉपोलोजी में एक ही प्रकार के तार का प्रयोग होता है. सभी कंप्यूटरों को एक ही तार से एक ही क्रम में जोड़ा जाता है. जो कि Network Installing अथवा आपातकालीन के लिए, होती है. इस नेटवर्क टोपोलॉजी का प्रयोग ऐसे स्थान पर किया जाता है जहां अत्यधिक तेज गति से संचार चैनल का प्रयोग सीमित क्षेत्र के लिए करना हो.

bus topology in hindi
नेटवर्क टोपोलॉजी क्या है

इसके तार के शुरुआत और अंत में एक संयंत्र लगा होता है जिसे Terminator (टर्मिनेटर) कहा जाता है. इस टोपोलॉजी में प्रत्येक नोड ,डॉप ,लाइन व टब के माध्यम से एक लंबी केबल से जुड़ा रहता है तथा डॉप ,लाइन, नोड वह बड़ी केबल को जोड़ने में सहायक होता है.

बस टोपोलॉजी के फायदे और नुकसान (Bus Topology Advantages and Disadvantages in Hindi)

बस टोपोलॉजी के लाभ (Bus Topology Advantages in Hindi)

Bus Topology Ke Fayde: यह नेटवर्क टोपोलॉजी बहुत ही प्रचलित है और बहुत सस्ती टोपोलॉजी भी है. इसमे हम नई नोड आसानी से डाल सकते हैं और पुरानी नोड को आसानी से निकाल सकते हैं. बस टोपोलॉजी को इंस्टॉल करना बहुत ही आसान है.

  • Bus Topology बेहद सस्ती होती है.
  • इस तरह की टोपोलॉजी को बनाने में बहुत ही कम केबल का इस्तेमाल होता है.
  • इस network को बनाना भी बहुत आसान होता है.
  • बस टोपोलॉजी को install करना बेहद आसान होता है.

बस टोपोलॉजी के नुकसान (Bus Topology Disadvantages in Hindi)

Bus Topology Ke Nuksan:- इसमें नेटवर्क ट्राफिक अधिक होने की वजह से इसकी स्पीड कम हो जाती है. दो कंप्यूटर के बीच केवल खराब होने पर  या कंप्यूटर के खराब होने पर वे एक दूसरे से कम्यूनिकेट नहीं कर सकते हैं.

  • इस तरह की टोपोलॉजी के काम करने की स्पीड बहुत धीमी होती है.
  • इसको बनाने के लिए इस्तेमाल होने वाली केबल की लम्बाई भी सिमित होती है.
  • इसके किसी कंप्यूटर के ख़राब होने पर सारा डाटा का संचार रुक जाता है.
  • फिर उसको किसी कंप्यूटर से जोड़ना बहुत कठिन हो जाता है.

स्टार टोपोलॉजी क्या है (What is Star Topology In Hindi)

Star Topology Kya Hai (स्टार टोपोलॉजी किसे कहते है) :- इस नेटवर्क में एक होस्ट कंप्यूटर होता है जिससे विभिन्न लोकल कंप्यूटर को जोड़ा जाता है. लोकल कंप्यूटर एक दूसरे से नहीं जुड़े होते हैं. इनको आपस में होस्ट कंप्यूटर द्वारा ही जोड़ा जाता है। और इसी से पूरे नेटवर्क को कंट्रोल किया जाता है.

star topology in hindi
नेटवर्क टोपोलॉजी क्या है

स्टार टोपोलॉजी में सभी कंप्यूटर एक हब (Ethernet hub) से या सिर्फ एक Cable के माध्यम से जुड़े हुए होते है. Star Topology सबसे ज्यादा उपयोग में ली जाती है. इस टोपोलॉजी में central network device एक Server के रूप में कार्य करता है. इनके अलावा सभी computer client के रूप में कार्य करते है.

Star Network Topology में यदि Hub या switch में किसी भी तरह की कोई परेशानी आती है तो सम्पूर्ण नेटवर्क फैल हो जाता है लेकिन यदि किसी local computer system में कोई परेशानी आती है तो इसके Network पर किसी तरह का कोई असर नहीं पड़ता है.

स्टार टोपोलॉजी के फायदे और नुकसान (Star Topology Advantages and Disadvantages in Hindi)

Star Topology Ke Fayde (स्टार टोपोलॉजी के लाभ)

Star Topology Advantages In Hindi:- स्टार टोपोलॉजी में सभी device या सेंट्रल नोड से अन्य सभी device का जुड़ाव एक स्टार के रूप में देखने को मिलता है. इस वजह से इसको स्टार टोपोलॉजी के नाम से जाना जाता है. इसके कई लाभ है जैसे :-

  • एक कंप्यूटर को होस्ट कंप्यूटर से जोड़ने पर उसके लागत कम आती है.
  • लोकल कंप्यूटर की संख्या बढ़ाने से नेटवर्क पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता है.
  • यदि कोई लोकल नोट कंप्यूटर खराब हो जाए तो नेटवर्क प्रभावित नहीं होता है और इस स्थिति में नोट कंप्यूटर का पता लगाना भी काफी आसानी से होता है, कि कौन सी नोट खराब हुई है.
  • इसके टोपोलॉजी की सहायता से नेटवर्क को आसानी से बड़ा किया जा सकता है.
  • Star Topology का Installation करना भी बेहद आसान होता है.
  • स्टार टोपोलॉजी सबसे ज्यादा उपयोग में ली जाने वाली नेटवर्क टोपोलॉजी है इसका इस्तेमाल ज्यादातर office या दुकानो में किया जाता है.

स्टार टोपोलॉजी के नुकसान (Star Topology Disadvantages in Hindi)

Star Topology Ke Nuksan :- इसके कई बड़े Advantages है तो इसके कुछ Disadvantages भी है चलिए जानते है स्टार टोपोलॉजी के नुकसान कौन कौनसे है.

  • वायर्ड स्टार टोपोलॉजी के लिए अधिक वायर की आवश्यकता होती ह.
  • यह टोपोलॉजी बड़े नेटवर्क के लिए काफी महंगा पड़ता है.
  • इसके Switch के खराब होने पर पूरा network खराब हो जाता है क्योंकि इसमें कोई भी नोड कम्यूनिकेट नहीं कर सकता है.
  • star topology का installation करने के लिए ज्यादा पैसे खर्च करने पड़ते है.
  • स्टार टोपोलॉजी के लिए Extra Hardware (Hub और Switch) की जरुरत होती है.

मेष टोपोलॉजी क्या है (What is Mesh Topology In Hindi)

Mesh Topology की परिभाषा :- मेष टोपोलॉजी एक ऐसी Networking है, जिसमे सभी तरह के नोड्स एक-दुसरे के बिच में data transfer करते है. इसमें जिस प्रकार से data transfer किया जाता है तो यह एक जाल की आकृति create करते है इसलिए इसको Mesh Topology कहा जाता है.

mesh topology in hindi
नेटवर्क टोपोलॉजी क्या है

मेष टोपोलॉजी के सारे कंप्यूटर एक दूसरे से जुड़े होते हैं. इसी कारण अपनी सूचनाओं का आदान-प्रदान आसानी से हो जाता है. इस नेटवर्क को पॉइंट टू पॉइंट नेटवर्क भी कहा जाता है. इस नेटवर्क को Completely connected नेटवर्क कहते हैं.

मेष टोपोलॉजी के फायदे और नुकसान (Mesh Topology Advantages and Disadvantages in Hindi)

Mesh Topology Ke Fayde (मेष टोपोलॉजी के लाभ)

  • इस टोपोलॉजी में रिंग टोपोलॉजी की तरह रूटिंग क्षमता की आवश्यकता नहीं होती है।
  • इसमें नेटवर्क डाटा का लेन-देन बड़ी तीव्र गति से होता है।
  • ये नेटवर्क में किसी एक हब या मास्टर कंप्यूटर पर निर्भर नहीं होता है।
  • यह टोपोलॉजी भारी मात्रा में ट्रैफिक को मैनेज करने में सक्षम है क्योंकि इसमें कई device एक साथ Data Simultaneously कर सकते हैं.
  • इसमें अगर एक device खराब होता है तो network में किसी तरह का effect या Data Transmission नहीं होता है.
  • मेष टोपोलॉजी में नया डिवाइस को जोड़ने पर others device के बीच Data Transmission के कार्य में कोई effect नहीं पड़ता है.
  • इसमें ट्रैफिक की कोई problem नहीं आती है क्योंकि इसमें सभी computer के लिए dedicated point से Point Link होता है.
  • यह ज्यादा दूरी पर भी Signals Transmit करने में सक्षम होता है.

मेष टोपोलॉजी के नुकसान (Mesh Topology Disadvantages in Hindi)

  • सभी नेटवर्क की तुलना में यह बहुत खर्चीला होता है.
  • इसके इंस्टालेशन करने में बहुत ज्यादा पैसे खर्च होते है.
  • mesh topology installation बहुत ही कठिन होती है.
  • इसका Maintenance करना बहुत ही कठिन होता है.
  • इस नेटवर्क की लाइन बिछाने में बहुत खर्च उठाना पड़ता है.
  • इस प्रकार की टोपोलॉजी में पॉवर की जरुरत बहुत अधिक होती है क्योंकि इसमें सभी नोड्स को Anytime Active रहना और Load Share करना पड़ता है.
  • इसमें कम्युनिकेशन के लिए I/O Port और उच्च केबल की जरूरत पड़ती है.

ट्री टोपोलॉजी क्या है (What is Tree Topology In Hindi)

Tree Topology Kya Hai : इसमें स्टार तथा बस टोपोलॉजी के लक्षण मौजूद होते है. इसमें भी स्टार टोपोलॉजी की तरह एक होस्ट कंप्यूटर होता है. तथा बस टोपोलॉजी की तरह सारे कंप्यूटर एक ही केबल से जुड़े रहते हैं. यह नेटवर्क एक पेड़ के समान दिखाई देता है. यहां वर्तमान में उपयोग में आने वाले नेटवर्क टोपोलॉजी का सबसे आम रूप है इसे Hierarchical टोपोलॉजी भी कहते हैं.

Tree Topology In Hindi
नेटवर्क टोपोलॉजी क्या है

ट्री टोपोलॉजी को Computer को Corporate Network में या Database में Information को उचित रूप में रखने के लिए इस्तेमाल किया जाता है.

ट्री टोपोलॉजी के फायदे और नुकसान (Tree Topology Advantages and Disadvantages in Hindi)

Tree Topology Ke Fayde (ट्री टोपोलॉजी के लाभ)

  • इसमें एक hierarchical और साथ ही नोड की सेंट्रल डाटा की व्यवस्था की जाती है.
  • इसमें कोई खराबी को पहचानना और रखरखाव करना बहुत सरल होता है.
  • ट्री टोपोलॉजी को Manage और Maintain करना बेहद आसान है.
  • सभी खंडों के लिए पॉइंट आर बिछाया जाता है.
  • कई हार्डवेयर तथा सॉफ्टवेयर विक्रेता के द्वारा सपोर्ट किया जाता है.

ट्री टोपोलॉजी के नुकसान (Tree Topology Disadvantages in Hindi)

  • प्रत्येक खंडों की लंबाई दिए गए तारों के द्वारा सीमित होती है
  • यदि बैंक बोर्न लाइन टूट जाती है तो पूरा नेटवर्क रुक जाता है
  • अन्य टोपोलॉजी की अपेक्षा इसमें तारा बिछाना तथा इसे कॉन्फिगर करना कठिन होता है।

हाइब्रिड टोपोलॉजी क्या है (What is Hybrid Topology In Hindi)

Hybrid Topology Kya Hai : जब नेटवर्क को बनाने के लिए दो या दो से ज्यादा Topology का उपयोग किया जाता है, तो इसे हाइब्रिड टोपोलॉजी कहते है. उदाहरण के लिए अगर एक topology को किसी दूसरी topology के साथ Add किया जाएगा और फिर बाद में जो network topology बनेगी उसे हाइब्रिड टोपोलॉजी कहा जाता है.

Hybrid Topology In Hindi
नेटवर्क टोपोलॉजी क्या है

हाइब्रिड टोपोलॉजी के फायदे और नुकसान (Hybrid Topology Advantages and Disadvantages in Hindi)

Hybrid Topology Ke Fayde (हाइब्रिड टोपोलॉजी के लाभ)

  • यह टोपोलॉजी अधिक ट्रैफिक को कण्ट्रोल करने में सक्षम है.
  • इसमें जरुरत के हिसाब से संसोधन करना आसान होता है.
  • हाइब्रिड टोपोलॉजी में कोई खराबी होती है तो उसका पता करना और उसका सलूशन करना भी बहुत आसान होता है.

हाइब्रिड टोपोलॉजी के नुकसान (Hybrid Topology Disadvantages in Hindi)

  • Hybrid Topology को installation करना बहुत कठिन होता है.
  • यह टोपोलॉजी बहुत ही महंगी होती है.
  • इसके सभी टोपोलॉजी के संयोजन से जो Hub से कनेक्ट होते है वो बेहद महंगे होते हैं.
  • इस टोपोलॉजी के डिजाईन की प्रक्रिया बेहद कठिन होती है.
  • Hybrid Topology के नेटवर्क में Backbone के ख़राब होने पर पुरे सिस्टम पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता है.

Final Words :

इस लेख में आपने सिखा कि नेटवर्क टोपोलॉजी क्या है और नेटवर्क टोपोलॉजी कितने प्रकार के होते है. इसमें हमने आपको इसके सभी प्रकारों की जानकारी देने के साथ साथ उनके फायदे और नुकसान के बारे में भी बताया.

उम्मीद करता हूँ कि आपको हमारा आज का लेख What is Network Topology in Hindi (नेटवर्क टोपोलॉजी क्या है) पसंद से कुछ सिखने को मिला होगा. अगर आपको ये लेख पसंद आया हो तो इसे अपने सभी सोशल मीडिया पर शेयर जरुर करे.

FAQ

किस टोपोलॉजी को सबसे बेहतरीन माना गया है?

फुल मैश टोपोलॉजी को सबसे बेहतरीन माना गया है, जो कि आपके नेटवर्क और बजट के पर भी निर्भर करता है.

सबसे तेज डांटा ट्रांसफर कौनसा है?

सबसे तेज डाटा ट्रांसफर फाइबर ऑप्टिकल का है?

कौनसी टोपोलॉजी सबसे सस्ती है?

सबसे सस्ती बस टोपोलॉजी होती है. बस टोपोलॉजी के नेटवर्क को बनाना बहुत आसान होता है और यह टोपोलॉजी मेकरम के बल का प्रयोग होता है.

सबसे अच्छा टोपोलॉजी कौन सा है?

सबसे अच्छा टोपोलॉजी स्टार टोपोलॉजी है. इससे सभी उपकरण और कंप्यूटर एक सेंट्रल होस्ट जिसे होस्ट नोट भी कहते हैं. जिसे ट्वीस्टेंड पेपर, कोएक्सियल, केबल का फाइबर ऑप्टिक केबल से जुड़ा रहता है और यह एक server की तरह काम करता है, और जो भी इंफॉर्मेशन देनी होती है वह इसी नेटवर्क से शेयर करता है.

सबसे महंगी टोपोलॉजी कौन सी है?

Hybrid Topology (हाइब्रिड टोपोलॉजी) सबसे महंगी network टोपोलॉजी है.

कौन सी नेटवर्क टोपोलॉजी है जिसे बनाना आसान है?

बस टोपोलॉजी (Bus Topology) को बनाना बहुत आसान है. क्योंकि इसमें बहुत कम केबल इस्तेमाल होती है.

कौनसी टोपोलॉजी एक रिंग में सर्वर सहित कंप्यूटर को जोड़ने की अनुमति देती है?

रिंग टोपोलॉजी एक रिंग में सर्वर सहित कंप्यूटर को जोड़ने की अनुमति देती है.

टोपोलॉजी के कितने प्रकार हैं?

टोपोलॉजी 6 प्रकार की होती है. जैसे Ring topology, Bus topology, Star Topology, Mesh Topology, Hybrid Topology और Tree Topology.

नमस्कार ! मेरा नाम गणपत ईणकिया है और इस Best Hindi Blog का संस्थापक हूँ. मुझे ब्लॉग्गिंग, एसईओ और डिजिटल मार्केटिंग जैसे विषयों पर गहरी नॉलेज है! हमारे ब्लॉग पर आने के लिए धन्यवाद.

Sharing Is Caring:

1 thought on “नेटवर्क टोपोलॉजी क्या है यह कितने प्रकार के होते हैं? – 6 Types Topology”

Leave a Comment